#18 बातें short pauranik katha in hindi - भगवान को क्रोध कब आता है?

#18 बातें short pauranik katha in hindi - भगवान को क्रोध कब आता है?

#18 बातें short pauranik katha in hindi - भगवान को क्रोध  कब आता है?

                     short Pauranik Katha in Hindi


 hindu dharmik kahaniya in hindi जोभी मनुष्य अपना जीवन जो  अपना लेता है  वह दुनियाके  समस्त दुःखों  से वासना से  इस्या से लोभ से मोंह से अहंकार से क्रोध से संसार के बन्धनों से मुक्त हो है ? भगवान श्री कृष्ण  कुछ अद्भुत  १८  बातें  भगवत गीता में बताई है। जो अनमोल है। ध्यान से पढ़े और आगे बड़े ?dharmik katha hindi me क्रोध 


short pauranik katha in hindi आनंद और खुशी अपने भीतर ही निवास करता  है. मनुष्य उसे बाहर ढूंढ रहा है किन्तु इस्त्री में  पैसा में घर में तथा बही सुखों में खोज रहा  गलियों में ढूंढता  फिर रहा है  किसी सुन सान गलियों  में  जो  है, ही नहीं। 


२.   भागवान का वंदन केवल  शरीर से नहीं मन से कारों वंदन भगवान का प्रेम बँधन में बाँधता है ? जो निर्मल - निराकार - जिसकी कोई आकार नहीं है ओ अन्त है, जिसका कोई अंत नहीं, ओहि परम पिता परमेश्वर है ?

३. मनुष्य के जीवन में  वासना ही पुनर्जन्म का कारण बनता है. भोग विलास पर इस्त्री सुख निंदक नियरें --- पर मै नहीं बोल रहा हूँ श्री मत भागवत गीता में बताया गया है ? 


 short pauranik katha in hindi


Dharmik story in Hindi - सबसे बड़ा धर्मात्मा

माँसाहार पुण्य है या पाप Dharmik Kahaniya

४. इन्द्रियों के अधीन होने से मनुष्य के जीवन में विकार  उत्पनः होती जिससे मनुष्य अंधकार की ओर जाता है ?

५. सयम और धैर्य  सदाचार, सदविचार  स्नेह प्यार सेवा दया प्रेम यह  गुण मनुष्य में तब आती है  जब सत संग करता है ? प्रभु का भजन ?

मुझे किसी ने  कमेंट किया था आप मुझे एक बताये? भगवान को  क्रोध  कब आता है  - मैंने रिप्लाई  किया  - जब कुँवारी लड़की माँ बनती है? शादी से पहले, तब उसकी कहती  है। हे भगवान तूने क्या ? 

६. मन के हारे हार है ? मन के  जीते जीत है ये  मन जो है दुःख का कारण है। यही हँसा ता  और रुलाता है। जीवन में  वस्त्र बदल ने की आवश्कता नहीं है  आवश्कता है तो  हृदये परिवर्तन लाइये,

  मन को बदलिए'' परिवर्तन लाइये ? इस्या मनुस्य  को जला देता उन्हें कभी खुशी नहीं मिलती कहते- है लोग मन चंगा तो बाथरूम में गँगा?(ये बात नहीं लिखी है ?

७. जो मनुष्य अपने  जवानी में बहुत से कू क्रर्म किया हो इक्छा विरुद्ध कार्य पर इस्त्री उस मनुष्य को बुढ़ापे में नींद  नहीं आती  है ? रात पहर जगता रहता है ?

८. भगवान ने जिस मनुष्य को सम्पति  दिया है उसे  गाय अवश्य ही रखनी चाहिए ?

९,  मद आशक्ति मदिरा पान जुआ असत्य पर स्त्री सँग मोह हिंसक  हिंसा निर्दयता दूसरों को दुःख देना।  इन सब में  कलियुग का वास है। 

१०. अधिकारी शिष्य को जीवन में  अवश्य ही शद गुरू मिलता है ? जो भगवान के पास है ? ईश्वरी कृपा 

११.  मन को  बार बार समझाओ ईश्वर के सिवाय मेरा कोई नहीं है और मै किसी का नहीं हूँ। मुझ में मैं हूँ, तुझ मे मैं हूँ  -  भोग में  छणिक सुख है। और त्याग में स्थाई आनंद है जो अन्त है. जो मुझ में वास् करता है ?  ये संसार छण भंगगुर है  जो दिखता है ओ वास्तव में नहीं है और जो नहीं है  ओहि सत्य है,और मैं  वहीँ  रहता हूँ ? भगवान कृष्ण कहते  


१२. सद्गुरु  सतसंग की कृपा  ईश्वर  कृपा  से मिलता  परन्तु कुसँग में पड़ना आपके हाँथ में है ? आप कुछ भी करो भगवान का आशीर्वाद हमेशा रहता है।  जैसे - मैं आज मदिरा पान करूंगा -तथावस्तु-- मैं आज सतसंग में जाऊंगा तथावस्तु ? 


१३ लोभ और ममता--- पाप के माता पिता है, और लोभ - पाप का बाप है। 
ये संसार एक बाजार की तरह है। तुम्हे क्या - क्या खरीदना  है। तुम्हारा लेखा जोखा तुम्हारी हिस्ट्री एक मेमोरी लोड हो रहा है। काम क्रोध मद लोभ मोह , सही संगति या बुरी संगति - आप के ऊपर है ?


१४. इस्त्री का धर्म रोज तुलसी ,पारवती और पति का सेवा ,पति ही परमेश्वर है। पत्नी का जीवन पति है। पति ही पत्नी का सबसे बड़ा  धन है? 

१५. मन और बुद्धि पर विश्वास मत  करो ये बार बार  दग़ा  दे जाती है, अपने आप को निर्दोस मानना सबसे बड़ा दोस है। 

१६ पति और पत्नी पवित्र जीवन बिताते है ? तथा  उनके  घर भगवान पुत्र के रूप में आते है। जो माता पिता के आज्ञा कारी शिष्य होते है। जैसे - सरवनकुमार  

१७. संसार की कसौटियों से जाँच परक से ही  भगवान् मनुष्य को अपने परम धाम में निवास स्थान देते है। जो दुर्लब जान पड़ती  है।  

१८ मार्ग दर्सन सही हो, तो दिये का प्रकाश भी सूरज का काम करता है ? अगर आप किसी का अपमान कर रहे है, तो वास्तव में आप अपना सम्मान खो रहे है ?

इसे दुसरो को जरूर बाँटें अपने तक सिमित न रखें. व्हाट्सप्प , फेसबुक पे एक शेयर  जरूर करना ? आपकी ही तरह मेरे और दोस्त है ? उन तक अवश्य भेजें आपका दिल से धन्यवाद आप पढ़ते रहे और बढ़ते ?







0 Response to "#18 बातें short pauranik katha in hindi - भगवान को क्रोध कब आता है?"

Post a Comment

please do not enter any spam link in the comment box

Ads Atas Artikel

Ads Center 1

Ads Center 2

Ads Center 3